Shri Ramayanaji Ki Arati Hindi

Submit to DeliciousSubmit to DiggSubmit to FacebookSubmit to Google PlusSubmit to StumbleuponSubmit to TechnoratiSubmit to TwitterSubmit to LinkedIn

Neebkaroribabaआरती श्रीरामायणजी की I  कीरति कलित ललित सिय पी की II

गावत ब्रह्मादिक मुनि नारद I  वालमीक विग्यान बिसारद II

सुक सनकादि सेष अरु सारद I बरनि पवनसुत कीरति नीकी  II

गावत वेद पुरान अष्टदस Iछऔ सास्त्र सब ग्रंथन को रस II

मुनि जन धन संतन को सरबस I सार अंस संमत सबही की II

गावत संतत संभु भवानी I अरु घटसंभव मुनि विज्ञानी II

व्यास आदि कबिबर्ज बखानी I काकभुसुण्डि गरुड़ के ही की II

कलि मल हरनि बिषय रस फीकी I सुभग सिंगार मुक्ति जुबती की II

दलन रोग भव भूरि अमी की  I तात मात सब बिधि तुलसी की II